काली मिर्च का तीखा स्‍वाद मात्रा में खाएं तो कैंसर से बचा जा सकता जाने कैसे ….!

काली मिर्च को स्‍वाद के कारण न करें अनदेखा, शहद, लहसुन, अदरक के साथ इसका प्रयोग दिलाएगा कई बीमारियों से निजात…!

खाने में भले ही काली मिर्च का स्‍वाद आपको ज्‍यादा न भाए, मगर काली मिर्च के फायदे जान आप हैरान रह जाएंगे। रसोई या खाने पीने के चीजों में कभी कभार प्रयोग की जाने वाली काली मिर्च गुणों का खजाना है। आयुर्वेद चिकित्‍सकों के अनुसार काली मिर्च एक रामबाण औषधि है और इसके नियमित प्रयोग से हम कई तरह की बीम‍ारियों से निजात पा सकते हैं। आमतौर पर यह अवधारणा है कि काली मिर्च का ज्यादा सेवन आपकी सेहत को नुकसान दे सकता है। इसलिए जरूरी है कि आप काली मिर्च का सेवन करने में सहजता बरतें। प्रत्‍येक दिन दो से तीन काली मिर्च आपके शरीर के लिए कई मायनों में फायदेमंद साबित होंगी। इतना ही नहीं आप काली मिर्च खाने से अपनी कई बीमारियों का इलाज घर बैठे कर सकते हैं।

सर्दी जुकाम से रखे दूर :सर्दियों में काली मिर्च का सेवन करने से सर्दी के मौसम में होने वाली खांसी और जुकाम से आपको राहत मिलती है। साथ ही इसके सेवन से आपका गला भी साफ रहता है। इतना ही नहीं कई लोगों को जुकाम के कारण बाल झड़ने की समस्या हो जाती है, इससे भी आपको आराम मिलता है।

चर्म रोग से दिलाए निजात : यदि आपके शरीर पर फोड़ा या फुंसी होने की आम समस्या है तो काली मिर्च को घिसकर फोड़े वाली जगह पर लगा लें। इससे आपको कम समय में आराम मिल जाएगा। इसके अलावा मुंह पर होने वाले मुहांसों से भी काली मिर्च राहत देती है। हालांकि इसे लगाना आपके लिए थोड़ा परेशान कर सकता है लेकिन तेजी से आराम मिलेगा।

तनाव और टेंशन होती है दूर :आज की जिंदगी में एक सबसे बढ़ी परेशानी तनाव बनता जा रहा है, ऐसे में काली मिर्च इस दिक्‍कत से निजात दिलाने में काफी हद तक सक्षम है। काली मिर्च में पिपराइन मौजूद होती है और उसमें एंटी-डिप्रेसेंट के गुण होते है। जिस कारण काली मिर्च लोगों की टेंशन और डिप्रेशन को दूर करने में मदद करती है।

दांतों के लिए बेहद फायदेमंद : काली मिर्च का सेवन दांतों से जुड़ी समस्याओं से राहत देता है। काली मिर्च से मसूड़ों के दर्द में बहुत जल्दी आराम मिलता है। यदि आप काली मिर्च, माजूफल और सेंधा नमक को मिलाकर चूर्ण बनाकर कुछ बूंद सरसों के तेल में मिलाकर दांतों और मसूड़ों में लगाकर आधे घंटे बाद मुंह साफ कर लें। इससे आपके दांत और मसूड़ों में दर्द होने वाली समस्या भी दूर हो जाएगी।

हिचकी रोकने के लिए करें प्रयोग : कई बार हमें अचानक ही हिचकी आने लगती है ऐसे में बेहद परेशानी होती है। इसलिए हरे पुदीने की 30 पत्ती, 2 चम्मच सौंफ, मिश्री और काली मिर्च को पीसकर एक गिलास पानी में उबाल लें। इस मिश्रण को पीने से हिचकी समस्या दूर हो जाती है।    5 काली मिर्च को जलाकर पीसकर बार-बार सूंघने से हिचकी की समस्या दूर हो जाती है।

गैस और एसिडिटी में फायदा: आधुनिक जीवनशैली के बीच गैस और एसिडिटी की समस्या आम है। यदि आपको भी यह परेशानी है तो नींबू के रस में काला नमक और काली मिर्च का पाउडर मिलाकर चुटकी भर लें। गैस से होने वाले दर्द में आपको तुरंत आराम मिल जाएगा।

पेट के कीड़ों को दूर करें: पेट में कीड़े होने की स्थिति में शरीर कमजोर होने लगता है तो हमारा स्‍वभाव भी चिड़चड़ा होने लगता है। ऐसे में काली मिर्च के पाउडर को खाने में इस्‍तेमाल करने से पेट में कीडों की समस्या दूर होती है। इसके अलावा काली मिर्च के साथ किशमिश खाने से भी पेट के कीड़ों की समस्‍या से छुटकारा मिलता है।

कैंसर से करती है बचाव: महिलाओं के लिए काली मिर्च खाना बहुत फायदेमंद होता है। कालीमिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, फ्लेवोनॉयड्स, कारोटेन्स और अन्य एंटी -ऑक्सीडेंट होता है। जिससे महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। शरीर में बढ़ने वाली अतिरिक्‍त मांसपेशियों को काली मिर्च बढ़ने से रोकती है।

काली मिर्च का तेल और लोशन पैक:- यदि आपकी त्वचा के कुछ हिस्से स्किन कलर से ज्य़ादा डार्क है तो आप काली मिर्च के तेल और लोशन का पैक बना कर इस पर अप्लाई करें। कुछ ही दिनों में आप इस समस्या से राहत पाएंगे। इसे बनाने के लिए 100 मिली बॉडी क्रीम या लोशन में  3 बूंदें काली मिर्च तेल की मिक्स करके पेस्ट की तरह बना लें। फिर इसे कुछ देर डार्क स्किन पर लगाने के बाद धो लें।

शहद और काली मिर्च फेसपैक : अगर आप मुहांसों की समस्या से परेशान है तो इससे छुटकारा पाने के लिए मार्कीट से प्रॉडक्ट खरीदने की बजाए घर पर शहद और काली मिर्च का फेसपैक बनाकर इस्तेमाल करें। इसका कोई नुकसान भी नहीं होगा।  इस पैक को बनाने के लिए 1 टीस्पून शहद में 1/2 टीस्पून काली मिर्च पाउडर अच्छी तरह से मिलाएं। अब इसे हल्के हाथों से चेहरे पर लगाएं और आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें।

अदरक, लहसुन, घी और शहद के साथ प्रयोग : काली मिर्च को अगर सीधे तौर पर नहीं खाया जाए तो इसे पीसकर नमक में मिला लें, इसके बाद इसे स्‍लाद और खाने में प्रयोग करें। इसके अलावा काली मिर्च को घी में डालकर सेक लें इससे इसका स्‍वाद कम तीखा होता है। कई तरह के लड्डूओं में भी काली मिर्च को डाल सकते हैं। काली मिर्च को अदरक और लहसुन के साथ खाने से नजला और ठंड दूर भागती है। इतना ही नहीं शहद के साथ इसका सेवन बच्‍चे भी कर सकते हैं ।

Source : दैनिक जागरण 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *