पपीता: चमत्कारी फल के सेवन से कई बीमारियों का इलाज संभव, कैंसर में भी है कारगर जानिए…!

विटामिन ए, सी, मैग्नीशियम और पोटेशियम से भरपूर कच्चा पपीता डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत रामबाण है। कच्चे पपीते को चटनी और सब्जी के रूप में भी खाया जाता है। 

पपीता एक फल है। कच्ची अवस्था में यह हरे रंग का होता है और पकने पर पीले रंग का हो जाता है। इसके कच्चे और पके फल दोनों ही उपयोग में आते हैं। कच्चे फलों की सब्जी भी बनती है। पपीता खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं की कच्चा पपीता भी स्वास्थ के लिए काफी अच्छा होता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन पाए जाते हैं जो शरीर को कई बीमारियों से दूर रखने का काम करते हैं। प्रतिदिन कच्चे पपीते का सेवन करने से पेट से लेकर कैंसर तक की बीमारियां दूर हो जाती है। विटामिन ए, सी, मैग्नीशियम और पोटेशियम से भरपूर कच्चा पपीता डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत रामबाण है। कच्चे पपीते को चटनी और सब्जी के रूप में भी खाया जाता है।

कच्चे पपीते खाने के फायदे: 

 लिवर के लिए फायदेमंद:- कच्चे पपीते का सेवन लिवर के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह लिवर को मजबूती देता है। पीलिया आदि में लिवर के कमज़ोर पड़ जाने की स्थिति में इसके सेवन से या कच्चे पपीते की सब्जी बनाकर खाने से पीलिया रोगियों को काफी फायदा होता है।

कैंसर से बचाव:- कच्चे पपीते के सेवन करने से कोलन और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम होता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट, फीटोन्यूट्रिएंट्स और फ्लेवोनॉयड्स शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को बनने से रोकते हैं।

कब्ज से छुटकारा: कच्चे पपीते में ऐसे एंजाइम और फाइबर होता हैं, जो पाचन तंत्र को ठीक रखते है। पेट में गैस नहीं बनने देता। इसके नियमित रूप से सेवन करने कब्ज और पेट दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

डायबिटीज में लाभदायक:– कच्चे पपीते खाना डायबिटीज रोगियों के लिए भी काफी लाभदायक होता है। इसका सेवन खून में शुगर की मात्रा को कम करता है। इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है। इससे डायबिटीज नियंत्रण में रहता है।

इम्यून सिस्टम मजबूत:- कच्चे पपीते और इसके बीजों में काफी मात्रा में विटामिन ए, सी और ई होता है, जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली यानि इम्यून सिस्टम को मजबूत बनता है। इसमें मौजूद विटामिन सी तनाव को दूर करता है।

ब्रेस्ट फीडिंग में फायदेमंद: ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली महिलाओं को ज्यादा न्यूट्रिशस की जरूरत पड़ती है। ऐसे में कच्चे पपीते का सेवन शरीर में सभी एंजाइम की कमी को पूरा करके दूध बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा कच्चे पपीते की सब्जी खाने से भी मां के दूध में वृद्धि होती है।

विटामिन की कमी: यदि आपके शरीर में विटामिन की कमी है तो कच्चे पपीते का सेवन इस समस्या को दूर किया जा सकता है। इसमें विटामिन सी और ए के साथ कई तरह के तत्व पाए जाते हैं, जिससे शरीर में विटामिन की कमी दूर हो जाती है।

गठिया में फायदेमंद: कच्चे पपीते से बनी ड्रिंक गठिया रोग में भी लाभकारी होता है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले दो लीटर पानी उबालने के बाद पपीते को धोकर और इसके बीज निकालकर पानी में पां मिनट तक उबालने के बाद इसमें दो चम्मच ग्रीन टी की पत्तियां डालें और थोड़ी देर के लिए उबालें। अब इसे छानकर दिनभर पीतें रहें।

यूरिन इंफेक्शन:कच्चा पपीता के खाने से यूरिन इंफेक्शन की समस्या से मुक्ति मिल जाती है। कच्चा पपीता इंफेक्शन की समस्या को दूर करके बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है।

वजन को करता है कम: रोजाना कच्चे पपीते का सेवन करते रहने से मोटापा की समस्या से भी निजात मिल सकता है। कच्चा पपीता में सक्रिय एंजाइम होते हैं जोकि तेजी से फैट बर्न करने में मदद करते हैं। इससे शरीर में जमा अतिरिक्त फैट निकल जाता है।

सोर्स: दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *